उत्तर प्रदेश

कौन है जय बाजपेयी जिसके साथ विकास दुबे के संबंध को लेकर कांग्रेस ने BJP पर साधा निशाना

चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में बिल्हौर CO देवेंद्र मिश्रा समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या ने पूरे प्रदेश को हिला कर रख दिया है। वहीं, इस हत्याकांड का मुख्य आरोपी और ढाई लाख रुपए का इनामी विकास दुबे अभी तक पुलिस के हाथ नहीं लग सका है। विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए एसटीएफ और यूपी पुलिस हर संभव प्रयास कर रही है। इस बीच लावारिश मिली तीन लग्जरी गाड़ियों के मामले उठाए गए जय बाजपेयी का विकास दुबे से कनेक्शन मिला है।

विकास दुबे का खजांची था जय बायपेयी
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जय बाजपेयी विकास दुबे का खजांची था और उसी के पैसे से लोगों को कमेटी डलवाता था। इतना ही नहीं, जय जमीनों की खरीद फरोख्त करता था। वह विकास के बल पर विवादित जमीनें लेता था और फिर उन्हें बेचता था। जय बाजपेयी की लग्जरी गाड़ियों से ही विकास दुबे सफर भी करता था। बता दें, विजय नगर में रविवार को मिलीं तीन लावारिस लग्जरी गाड़ियां जय बाजपेयी की है और एसटीएफ को शक है कि विकास दुबे और उसके गैंग के सदस्यों ने इन्हीं गाडियों से जिला पार किया है। फिलाहल एसटीएफ उसे लखनऊ ले गई है, जहां उससे पूछताछ जारी है। वहीं, मंगलवार को पुलिस की एक टीम जय बाजपेयी के घर पहुंची। टीम ने जय बाजपेयी के घर की तलाशी ली।

7 साल पहेल प्रिंटिंग प्रेस पर काम करता था जय बायपेयी

जय बाजपेई विकास दुबे का बेहद करीबी है। प्रॉपर्टी के अलावा कमेटी डलवाने का भी काम करता है। जय जमीनों की खरीद फरोख्त करता था। वह विकास के बल पर विवादित जमीनें लेता था और फिर उन्हें बेचता था। इसके अलावा मार्केट में ब्याज पर रुपए बांटने का काम भी है। 15 से अधिक मकान हैं और वह दर्जनों फ्लैट का मालिक भी है। 7 साल पहले जय बायपेयी 4 हजार की सैलरी पाता था और प्रिंटिंग प्रेस में काम करता था। कम समय में उसने करोड़ों की संपत्ति बना ली। लखनऊ-कानपुर रोड पर एक पेट्रोल पम्प है। वह अवैध रूप से चल रहे पम्प का मालिक है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, विकास कई मामले में जय का इस्तेमाल करता रहा है। पुलिस ने जय और उसके कई करीबियों की सीडीआर निकाली जिससे कई अहम साक्ष्य पुलिस को मिले हैं।

जय बाजपेयी को लेकर कांग्रेस ने बीजेपी पर साधा निशाना
जय बाजपेयी के लिंक कई बीजेपी नेता और ब्यूरोक्रेट्स से भी सामने आए हैं। एक तस्वीर में वे यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी के साथ दिख रहा है। इस तस्वीर पर कांग्रेस ने ट्वीट कर सवाल खड़ा किया है और सरकार से पूछा है कि ‘कई समाचार चैनलों पर खबरें आ रही हैं कि विकास दुबे का सबसे ख़ास सहयोगी जय बाजपेयी था। जय बाजपेयी विकास की हर तरीके से मदद करता था। लेकिन ये जय बाजपेयी के साथ यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी क्या कर रहे हैं? लिंक्स की जांच होनी जरूरी है।’

DMCA.com Protection Status

Tags
आगे पढ़ें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close